आप यहाँ पर हैं
होम > इंडिया (India) > वीडियो: अमित शाह करते हैं देश चलाने की बात जबकि उनका विधायक राष्ट्रगान भी नहीं गा पाया

वीडियो: अमित शाह करते हैं देश चलाने की बात जबकि उनका विधायक राष्ट्रगान भी नहीं गा पाया

हम आपको बता दें कि फर्जी राष्ट्रवादी और देशभक्ति की नाटक रचने वाला राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और बीजेपी के नेताओं की पोल दिन प्रतिदिन खुलती जा रही है.

bjp leader don't know national anthem राष्ट्रगान

आए दिन जब न्यूज चैनल्स पर भाजपा के मीडिया पैनलिस्टों और नेताओं से राष्ट्रगान सुनाने को कहा जाता है तो उनका चेहरा देखने लायक होता है.

भाजपा और आरएसएस के 90 फीसदी नेताओं को राष्ट्रगान या राष्ट्रगीत से कोई लेना देना नहीं है.

1. भारत भी नहीं बोल सकते भाजपा नेता

पिछले दिनों भाजपा नेता एवं उत्तरी दिल्ली के मेयर रवींद्र गुप्ता का एक वीडियो काफी तेजी से पॉपुलर हो रहा है जिसमें उनसे लोगों ने राष्ट्रगान गाने की अपील की.

जैसे तैसे मेयर साहेब ने राष्ट्रगान गाना शुरु कर दिया. मेयर साहेब को जितना आ रहा था, उतना गा रहे थें बाकी मुंह में निगलते जा रहे थें.

देखिये वीडियो:-

इस शर्मसार करने वाले वीडियो में जैसे तैसे मेयर राष्ट्रगान गा रहे थें. गलत सही, जहां जो समझ आता है, वहां वही शब्द जोड़ देते थें.

कुछ शब्द और वाक्य मुंह के अंदर भी रह जाते थें. कुछ कुछ शब्द आसपास खड़े लोग धीरे धीरे बता रहे हैं. हद तो तब हो गई कि जब संघ के इस दुलरुआ नेता के मुंह से भारत की जगह जारत शब्द निकल रहा है.

2. योगी के मंत्री की खुल गई थी पोल

यूपी सरकार के अल्पसंख्यक कल्याण राज्य मंत्री बलदेव सिंह औलख एक न्यूज शो पर पहुंच कर हर मदरसे में राष्ट्रगान अनिवार्य करने का फरमान सुना रहे थें.

एंकर ने औलख को वंदे मातरम सुनाने को कह दिया. इतने में तो मंत्रीजी का चेहरा देखने लायक था. बार बार वंदे मातरम गाने की बात कहने के बावजूद मंत्री सिर्फ वंदे मातरम हीं कह सके.

देखिये वीडियो:-

इस भाजपाई मंत्री की नौटंकी की पोल लाइव शो में खुल चुकी थी. एंकर को भला बुरा बोलते हुए यह मंत्री किसी तरह इस कार्यक्रम से पीछा छुड़वा कर भागा था.

3. कर्नाटक में किया था राष्ट्रगान का अपमान

हाल हीं में कर्नाटक विधानसभा चुनाव में बहुमत नहीं मिलने के बावजूद मोदी, शाह और भागवत ने मिलकर गुंडई से भाजपा की फर्जी सरकार बनवा दी थी.

सदन में विश्वासमत प्राप्त करने के पहले भी भाजपा के फर्जी सीएम येदुरप्पा ने इस्तीफा दे दिया था.

हैरान करने वाली बात थी कि कर्नाटक विधानसभा में राष्ट्रगान का सेशन चल रहा था. राष्ट्रगान शुरु हो गया और भाजपा विधायक सम्मान देने की बजाय इधर उधर भागने लगें.

स्पीकर ने इस घटना को देखने के बाद शर्म महसूस किया और दोबारा राष्ट्रगान का कार्यक्रम कराया.

निष्कर्ष :

हमें भूलना नहीं चाहिए कि भाजपा आईएसआई के एजेंट ध्रुव सक्सेना की पार्टी है. इन्हें देश और देशभक्ति से कोई लेना देना नहीं है.

Leave a Reply

Top