आप यहाँ पर हैं
होम > इंडिया (India) > नरेंद्र मोदी को ढंग से हिंदी नहीं बोलनी आती, वह इंग्लिश कैसे बोल लेते हैं: जानिये इसके पीछे का सच

नरेंद्र मोदी को ढंग से हिंदी नहीं बोलनी आती, वह इंग्लिश कैसे बोल लेते हैं: जानिये इसके पीछे का सच



नरेंद्र मोदी जब कैपिटल हिल में थे तो उन्होंने वहां अंग्रेजी में बहुत ही शानदार भाषण दिया था. उनके भाषण देने के बाद एक अमेरिकन कांग्रेसमैन उनके अच्छे भाषण के लिए तालियाँ बजाने लगा और ट्वीटर पर भी उनकी खूब तारीफ हुई और लोगों ने कहा कि मोदी ने बहुत ही अच्छा भाषण दिया. आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि जो हिंदी सही से नहीं बोल पाता है उसने अंग्रेजी में इतना अच्छा भाषण कैसे दे दिया.

narendra modi नरेंद्र मोदी speech in english

कैसे दिया नरेंद्र मोदी ने ये भाषण…?

नरेंद्र मोदी के इस भाषण की भक्त तारीफ करते हुए नहीं थक रहे थे कि जैसे वो यहाँ हिंदी में भाषण देते हैं वैसे ही उन्होंने वहां अंग्रेजी में दिया लेकिन भक्तों को औ खुद नरेंद्र मोदी को ये पता नहीं था कि उनकी ऐसी फोटो वायरल होगी जिससे उनका राज खुल जायेगा !

दरअसल नरेंद्र मोदी को  अंग्रेजी में भाषण अनुवाद करने लिए नरेंद्र मोदी के सामने टेलीप्रांप्टर लगा हुआ था जिसमे देख देखकर नरेंद्र मोदी अपना भाषण दे रहे थे ! जल्द ही ये सच बहार आगया और ट्वीटर पर नरेंद्र मोदी की २ टेलीप्रोम्पटर के साथ फोटो वायरल होने लगी और भक्तों की हालत देखने लायक बन गयी!

और भी सच आए सामने

जब ये फोटोग्राफ इतने वायरल हुए तो मीडिया ने भी इसकी जांच शुरू की और इस बात की पुष्टि की कि नरेंद्र मोदी के सामने प्रोम्पटर लगे हुए थे ! जब ये बात खुली तो और भी सच सामने आये कि मोदी ने सबसे पहले 2014  में PSLV लांच में इसरो में अपने भाषण के लिए टेलीप्रोम्पटर का इस्तेमाल किया था ! अपनी हर विदेश यात्राओ पर मोदी इसका इस्तेमाल करते है और खासतौर पर जब उन्हें अंग्रेजी में भाषण देना होता है !

कैसे काम करता है टेलीप्रोम्पटर

दरअसल ये एक यन्त्र होता है जिसमे कांच की प्लेट होती है जिसपर पीछे से अनुवादित टेक्स्ट धीरे धीरे एक रौशनी की तरह डाले जाते हैं जो धीरेधीरे स्क्रॉल होते रहते हैं जिन्हें पढके आदमी बोलता रहता है !

ये सामने बैठे लोगों के लिए अद्रश्य होता है क्योकि ये पारदर्शी होता है ! पीछे से ऑपरेटर होता है जो इसे चलाता है और बोलने वाले की मदद करता है ! २ स्क्रीन होती हैं जो अलग अलग दिशा में होती हैं तो बोलने वाला कभी इसमें देखता तो कभी उसमे जिससे लगता है कि वो जनता से मुखातिब हो रहा और उसका इम्प्रेशन जमता है !

देखिये वीडियो:-

Leave a Reply

Top