आप यहाँ पर हैं
होम > इंडिया (India) > मोदी सरकार को लगा बहुत ही तगड़ा झटका, राहुल गांधी को नहीं बल्कि कांग्रेस इस नेता को बनाएगी प्रधानमंत्री

मोदी सरकार को लगा बहुत ही तगड़ा झटका, राहुल गांधी को नहीं बल्कि कांग्रेस इस नेता को बनाएगी प्रधानमंत्री

तो चलिए अब बात करते हैं राहुल गांधी की. जैसा कि आप सब जानते हैं कि गुजरात विधानसभा चुनावों और राजस्थान उपचुनावों में कमाल के प्रदर्शन के बाद अब कांग्रेस 2019 के लोकसभा चुनावों में भी अपनी जीत दर्ज कराने में जुट गई है.

modi government shock as rahul gandhi राहुल गांधी will not be next pm

 

मोदी ब्रांड से लड़ने के लिए कांग्रेस ने उतारा अपना प्रधानमंत्री

पद का चेहरा

देश में लोकसभा चुनाव अगले साल 2019 में होने हैं, जिसके चलते अभी से सभी पार्टियां इसकी तैयारियों में चुनाव-प्रचार करने में लग गई हैं. कांग्रेस भी इस बार देश में मोदी लहर का कम होता असर का फ़ायदा उठाते हुए मोदी ब्रांड से लड़ने में कोई कसर नहीं छोड़ना चाहती. इसके लिए कांग्रेस नेतृत्व में कई बड़े बदलाव किए जा रहे हैं.

कांग्रेस का ये बड़ा नेता होगा 2019 में प्रधानमंत्री पद का

उम्मीदवार

इसी के चलते अब कांग्रेस ने पार्टी में फ़ेरबदल करते हुए 2019 में अपने प्रधानमंत्री चेहरे का ऐलान करके हर किसी को हैरान कर दिया है. जी हाँ कांग्रेस पार्टी ने अपने प्रधानमंत्री पद के चेहरे का ऐलान ये कहते हुए किया कि “प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के एकमात्र विकल्प खुद पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी होंगे.”

मोदी पर साधा निशाना

अभी तक 2019 में विपक्ष की ओर से जिस बड़े चेहरे को लेकर दुविधा थी उसे कांग्रेस ने साफ करते हुए राहुल गांधी के नाम की घोषणा कर हर किसी को हैरत में डाल दिया है. बता दें कि बीते रविवार कांग्रेस की ओर से पार्टी मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने इस बात की जानकारी देते हुए कहा कि..

“2019 के लोकसभा चुनाव में विपक्षी एकता से बदलाव की लहर आएगी. देश में आज दो मॉडल्स हैं. एक मोदी मॉडल है, वो दिन में छह बार कपड़े बदलते हैं. तो दूसरा, राहुल मॉडल है, वो सादगी से रहते हैं और अपनी बात साफ-साफ कहते हैं.”

विपक्ष एकता पर भी जमकर बोली कांग्रेस

इसी दौरान मीडिया से बातचीत करते हुए रणदीप सुरजेवाला ने आगे कहा कि “राहुल गांधी राजनीति में अपनी बेबाकी, पारदर्शिता और ईमानदारी के लिए मशहूर हुए हैं. वह कठोर निर्णय लेने से भी कभी नहीं डरते. वे मोदी के अकेले विकल्प हैं. देश की जनता उनको अगला प्रधानमंत्री देखना चाहती है.” साथ ही उन्होंने विपक्षी एकता पर कहा कि “बीजद, शिवसेना और अब तेदेपा धीरे-धीरे राजग से अलग हो रहे हैं. दूसरी तरफ कांग्रेस विभिन्न दलों के बीच एकता की धुरी बनती जा रही है. यह एकता 2019 में बदलाव का आधार बनेगी.”

इस साल आठ राज्यों में होने हैं विधानसभा चुनाव 

बताते चले कि इसी साल के अंत तक आठ राज्यों में विधानसभा चुनाव होने है. जिसमें कांग्रेस शासित राज्य कर्नाटक भी है. इस बारे में जब सुरजेवाला से पूछा गया तो उन्होंने अपनी जीत को सुनिश्चित करते हुए कहा “हमें पूरी उम्मीद है कि हम कर्नाटक में फिर सरकार बनाएंगे. ये देश के सबसे डेवलप्ड स्टेट्स में से एक है.”

निष्कर्ष:

गौरतलब है कि राहुल के पार्टी अध्यक्ष बनने के बाद ही हाल ही में राजस्थान की 2 लोकसभा और 1 विधानसभा सीटों पर कांग्रेस अपनी जीत दर्ज करा पाने में कामियाब रही है. ऐसे में राहुल को ही पार्टी द्वारा प्रधानमंत्री मोदी के सामने खड़ा करने से बीजेपी को इसका नुकसान जरुर भुगतना पड़ सकता है.

Leave a Reply

Top