आप यहाँ पर हैं
होम > इंडिया (India) > जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूछा सवाल कि आखिर मुझसे इतनी नफरत क्यों तो एक व्यक्ति ने दिया बेहद ज़बरदस्त जवाब

जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूछा सवाल कि आखिर मुझसे इतनी नफरत क्यों तो एक व्यक्ति ने दिया बेहद ज़बरदस्त जवाब

हम आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को हाल ही में कांग्रेस पार्टी से निलंबित नेता मणिशंकर अय्यर ने ‘नीच’ कहा था। वैसे तो अय्यर ने बाद में अपने शब्दों को लेकर माफ़ी मांगी थी लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसको चुनावी मुद्दा बनाने में देर नहीं की।

Image result for person gives befitting reply to narendra modi नरेंद्र मोदी

पीएम मोदी ने अपनी रैली में प्रश्न पूछते हुए कहा था कि आखिर मुझसे इतनी नफरत क्यों है? जिसका उत्तर देते हुए फेसबुक यूजर ने पीएम मोदी से नफरत के 22 कारण गिना डाले जो काफी वायरल हो रहे है।

दरअसल पीएम मोदी ने प्रश्न पूछते हुए कहा था कि आखिर मुझसे इतनी नफरत क्यों है? लोगों का मुझ पर भरोसा करना गलत है क्या? साथ ही उन्होंने कहा था कि, क्योंकि मैं एक गरीब परिवार में पैदा हुआ हूं, क्योंकि मैं निचली जाति से आता हूं? क्योंकि मैं एक गुजराती हूं? क्या सिर्फ यही वजह है कि वो लोग मुझसे नफरत करते हैं।

पीएम मोदी के इन सवालों का फेसबुक पर देवदन चौधरी नामक फेसबुक यूजर ने काफी कड़ा उत्तर दिया है जो काफी वायरल हो रहा है। इस शख्स ने अपने उत्तर पीएम मोदी से नफरत के 22 कारण बताए हैं जिसको सोशल मीडिया पर काफी बड़ी संख्या में लोग लाइक और शेयर कर रहे है.

देवदन चौधरी ने अपने पोस्ट में 22 कारण बताते हुए लिखा है:
1. डिमॉनेटाइजेशन से भारत की अर्थव्यवस्था को बर्बाद करने और फिर उसकी जिम्मेदारी नहीं लेने के लिए।
2. संगठित ध्रुवीकरण के माध्यम से संस्कृति को नष्ट करने के लिए – न सिर्फ धार्मिक, बल्कि क्षेत्रीय, भाषाई और सांस्कृतिक भी।
3. हिंदू धर्म / सनातन धर्म की गहन शिक्षाओं को नष्ट करने के लिए।
4. नकली राष्ट्रवाद की जड़ें जारी रखने के लिए आपका काम और नीतियां केवल भारत को नुकसान पहुंचा रही हैं।
5. सिर्फ सरकार, पर भारत की नहीं, बल्कि हिंदुओं और विदेशी निहित हितों के लिए- खासकर जियोनिस्ट वैश्विक बैंकिंग कार्टेल के लिए।
6. झूठे वादे जो हर रोज कई चैनलों के माध्यम से फैलाए जा रहे हैं।
7. भारतीय संविधान के सिद्धांतों का उल्लंघन करने के लिए।
8. डेम-फेनिंग मीडिया और संस्थानों द्वारा लोकतंत्र के खंभे को नष्ट करने के लिए जो सत्य और न्याय के किसी भी प्रकार की पेशकश करने के लिए महत्वपूर्ण हैं।
9. लोगों की आवाज सुनने के बजाए जबरन धमका कर निर्देश लागू करने के लिए।
10. नफरत को बढ़ावा देने के लिए।
11. स्वतंत्रता को रोकने के लिए हर तरीके की चाल चली गई।
12. 2014 से सभी मानव विकास अनुक्रमितों को डूबाने के लिए।
13. नकली नैतिकता का खेल खेलने के लिए।
14. जो लोग आपसे सवाल पूछना चाहते हैं, उनसे बचने के लिए, सरकार में आने के बाद अब तक कोई प्रेस कॉन्फ्रेंस नहीं हुई है।
15. जनसंपर्क, प्रचार, घटनाओं और प्रचार पर ध्यान केंद्रित करने के लिए, लेकिन राष्ट्र के वास्तविक मुद्दों पर नहीं।
16. भारत की पारंपरिक विदेश नीति को ‘गैर-गठबंधन’ तरीके से बर्बाद करने के लिए।
17. भाषण के माध्यम से- नफरत और लालच फैलाने के लिए।
18. अपने आस-पास चापलूस रखने के लिए, जिन्हें गवर्नेंस का बिलकुल भी ज्ञान नहीं।
19. महान विचारों/गलत प्राथमिकताओं के बारे में जुनूनी होने के लिए और वितरित करने में असफल रहने के लिए।
20. सामाजिक न्याय को नजरअंदाज करके ‘विकास’ के अर्थ को गलत तरीके से पेश करने के लिए।
21. अमीरी के लिए गरीब और मध्य वर्ग लोगों पर भार डालने के लिए।
22. लोगों का भरोसा तोड़ने के लिए।

Leave a Reply

Top