आप यहाँ पर हैं
होम > इंडिया (India) > वीडियो: ताजमहल के नीचे बना है ऐसा दरवाज़ा जिसे खोलने में छूटते हैं सरकार के भी पसीने

वीडियो: ताजमहल के नीचे बना है ऐसा दरवाज़ा जिसे खोलने में छूटते हैं सरकार के भी पसीने

तो चलिए अब हम बात करते हैं ताजमहल की. हम आपको बता दें कि ताजमहल का शुमार दुनिया के सात अजूबों में होता है.

taj mahal ताजमहल mysterious door

कहा जाता है कि इसे मुग़ल शाहजहाँ ने अपनी बेगम मुमताज महल की याद में बनवाया था.

ताजमहल के साथ ही जुड़ा आ रहा है रहस्यमय दरवाजें का राज

लेकिन शायद आप न जानते हो कि सालों से एक बड़ा रहस्य भी ताजमहल के साथ ही जुड़ा आ रहा है, और ये रहस्य है ताजमहल के नीचे जमीन के अंदर बनाए गए एक रहस्यमयी दरवाजे का है. ऐसे में सबसे पहला सवाल यही आता है कि क्या आखिर सचमुच ताजमहल के नीचे एक गुप्त दरवाजा है जिसे आज तक किसी ने नहीं खोला.? इस रहस्यमय दरवाजे को लेकर ये कहा जाता है कि इतने सालों में सरकारें भी इस दरबाजे को खोलने से डरती है. आजतक इस दरबाजे को किसी ने भी नहीं खोला है.

ताजमहल के नीचे एक हजार से भी ज्यादा गुप्त कमरों का एक

गर्भगृह मौजूद है

इतिहासकारों की माने तो ताजमहल का निर्माण साल 1631 में शुरू किया गया था जिसे सालो बाद आज भी ताजमहल के निर्माण को दुनियाभर में कुशल कारीगरी का एक बेहतरीन नमूना कहा जाता है. इसके निर्माण को लेकर विश्वभर के शोधकर्ताओं ने इस पर कई शोध किए हैं. इसके बाद ही कई शोधकर्ताओं ने इस बात का ख़ुलासा किया कि ताजमहल के नीचे एक हजार से भी ज्यादा गुप्त कमरों का एक गर्भगृह हैं. उनका मानना तो ये भी है कि ताजमहल जितना ऊपर है उतना ही धरती के नीचे भी है.

मुग़ल काल में हर किलें में बनाई जाती थी बाहर निकलने के लिए

गुप्त सुरंगे

इतिहास गवाह है कि राजा-महाराजाओं के काल में हर किले के निर्माण के दौरान वहां से बाहर निकलने के लिए गुप्त द्वार को बनाने की परंपरा थी. यह नियम हर छोटे-बड़े स्थल के निर्माण में लागू किया जाता था. इसलिए ये कहा जाता है कि ताजमहल के साथ भी ऐसे ही है. इसके नीचे भी एक गुप्त रास्ता बनाया गया हैं जो आगरा से कहीं दूर जाकर निकलता है.

ताज के नीचे के गुप्त रास्तों में मौजूद है बेशकीमती ख़जाना

हालांकि जानकार बताते हैं कि ताज के नीचे के गुप्त रास्तों को शाहजहां के वक्त में ही बंद कर दिया था. ताजमहल के नीचे बने इन एक हजार से भी ज्यादा गुप्त कमरों के गर्भगृह को ईटों से ही बंद करवाया गया है. जिसे वर्तमान में खुलवाने का हक़ सिर्फ सरकार के पास है. शोधकर्ताओं की माने तो उन दरवाजों के पीछे किसी बड़े खजाने की संभावना भी भापी जा रही है. जिसके चलते ही इन्हें समय रहते बंद करवा दिया गया था.

देखिये वीडियो:-

दरवाजें के खुलने से बदल सकता है भारत का इतिहास

कई इतिहासकारों के अनुसार ताज के दरवाजों के पीछे कई ऐसे ऐतिहासिक दस्तावेज भी हो सकते हैं जिसके खुलने के बाद भारत का इतिहास ही बदल जाएगा, लेकिन अभी इसपर कुछ भी स्पष्टरूप से कह पाना उतना ही मुश्किल है जितना इस रहस्यमय दरवाजें को खोलना.

Leave a Reply

Top